Blog के लिए आर्टिकल कैसे लिखें | पहली बार Blog Post कैसे लिखें 

Blog के लिए आर्टिकल कैसे लिखें ,How to Write Article for Blog in Hindi, ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखें , ब्लॉग आर्टिकल कैसे लिखते है , Blog Post Kaise Likhe ,पहली Blog Post कैसे लिखें  – Blogging घर बैठे पैसे कमाने का एक अच्छा माध्यम है। ब्लॉगिंग एक ऑनलाइन मंच है जहां पर लोग विभिन्न विषयों पर लेख लिखते हैं और अपनी विचारधारा और जानकारी को सांझा करते हैं।

YouTube Channel download
Telegram Group images

आप भी घर बैठे पैसे कमाना चाहते हैं तो ब्लॉगिंग करके कमा सकते हैं। आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि ब्लॉग पोस्ट अथवा आर्टिकल कैसे लिखते हैं। आर्टिकल लिखने के लिए क्या करना चाहिए और कैसे लिखते हैं आइए जानते हैं –

Table of Contents

ब्लॉग पोस्ट के लिए आर्टिकल कैसे लिखें ( How To Write Article For Blog in Hindi )

आज के इंटरनेट की दुनिया में ब्लॉगिंग एक बहुत ही प्रभावी माध्यम है। ब्लॉगिंग विभिन्न लोगों को अपने विचार अनुभव और क्रिएटिविटी को साझा करने का एक मंच प्रदान करती है। इसका उपयोग व्यक्तिगत व्यापारिक और सामाजिक उद्देश्य के लिए किया जाता है।

नए ब्लॉगर अपने Blog के SEO ( Search Engine optimization ) और पेज डिज़ाइन करने में अधिक समय लगाते हैं क्योंकि उनको लगता है कि अच्छा SEO करने से ही Blog में सक्सेस पा सकते हैं। अधिकतर ब्लॉगर इस में सबसे बड़ी गलती कर बैठते हैं।

जब मैंने ब्लॉगिंग की शुरुआत की थी तो मैंने भी बहुत सारे लोगों से यह सुना था कि ब्लॉग में सक्सेस पाने के लिए SEO बहुत जरूरी है। जैसे जैसे मैंने रिसर्च किया और ब्लॉगिंग के बारे में अच्छे से सीखना शुरू किया तब मुझे यह पता चला कि ब्लॉगिंग के लिए सबसे जरूरी है Content । कॉन्टेंट को ही किसी भी Blog का King कहा जाता है।

SEO ब्लॉग के लिए बहुत जरूरी है लेकिन उससे भी पहले एक Blog को सक्सेसफुल बनाने के लिए सबसे पहले कंटेंट पर फोकस करना होता है। अपने कंटेंट का SEO तो आप बहुत अच्छे से कर लेंगे लेकिन अगर आपके ऑडियंस को आपका कंटेंट पसंद नहीं आया तो आपका ब्लॉग सक्सेसफुल नहीं होगा। अपने ब्लॉग को सक्सेसफुल बनाने के लिए पहला और महत्वपूर्ण काम कंटेंट का होता है।

यह भी पढ़े –

Blog पोस्ट लिखना बहुत ही आसान है और आप भी इसे अच्छे से कर सकते हैं। आज किस आर्टिकल में आप भी सीख जायेंगे की Blog पोस्ट के लिए आर्टिकल कैसे लिखते हैं। तो आइए जानते हैं Blog पोस्ट कैसे लिखें –

Watch Videos For More Information

विषय सेलेक्ट करें ( Select Your Niche Topic )

Blog आर्टिकल लिखने से पहले आपको एक टॉपिक सेलेक्ट करना होता है। जो भी आपके Blog का Niche है उस Niche के अनुसार ही आप अपना टॉपिक अथवा विषय चुन ले । इसके लिए आप विषयों की सूची बना सकते हैं और उनमें से किसी एक विषय या टॉपिक पर जिसमें आपकी ज्यादा रुचि ,ज्ञान और लिखने की क्षमता ज्यादा हो उस टॉपिक पर आप Blog पोस्ट लिख सकते हैं।

किसी भी Blog के लिए आर्टिकल लिखने से पहले टॉपिक या विषय सिलेक्शन होता है तभी आप उस टॉपिक पर एक आर्टिकल लिख पाते हैं। और किसी भी टॉपिक पर आर्टिकल लिखने से पहले आपको उस टॉपिक से संबंधित सभी जानकारियां होनी चाहिए तभी आप एक अच्छा कंटेंट लिख सकते हैं। कंटेंट को अच्छा बनाने के लिए आपकी उस टॉपिक पर विशेषज्ञता होनी चाहिए ।

रिसर्च करें ( Do Research )

किसी भी ब्लॉग पोस्ट को लिखने से पहले Research करना बहुत आवश्यक होता है। अपने ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले आप Content Research जरूर कर ले। जिस भी टॉपिक पर आप Blog आर्टिकल लिखना चाहते हैं उससे संबंधित 5-7 Top Blog पोस्ट को पढ़ें और उन ब्लॉग से प्राप्त सभी जानकारियां अपने नोट्स पर लिखिये । आप जितनी गहराई से रिसर्च करेंगे उतनी अधिक इंफॉर्मेशन आपको प्राप्त होगी । इसके लिए अपने 2 से 4 घंटे कंटेंट रिसर्च के लिए अवश्य लगाएं।

टॉपिक सिलेक्शन के बाद उस पर विस्तार से शोध अथवा रिसर्च करना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए आप इंटरनेट ,लाइब्रेरी ,लेख वीडियो और अन्य संसाधनों का उपयोग करके विषय के बारे में अधिक जानकारी ढूंढ सकते हैं । इससे आपके पास सही और विशेषज्ञता से भरपूर जानकारी होगी।

यह भी पढ़े –

Chat GPT क्या है और यूज कैसे करें | Chat GPT से पैसे कैसे कमाए

ट्रेंडिंग टॉपिक पर लिखें ( Write on trending Topic )

अपने ब्लॉग आर्टिकल पर आप ट्रेंडिंग टॉपिक पर लिखे । रिसर्च करते समय आप नए इंफॉर्मेशन को सर्च करें और उस आधार पर अपने ब्लॉग पोस्ट आर्टिकल को लिखें। आपके ब्लॉग पोस्ट पर कुछ नई इंफॉर्मेशन होगी तभी आपके ऑडियंस को कुछ नया सीखने को भी मिलेगा। ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले आप ऑडियंस का दृष्टिकोण जरूर समझे और उनके अनुसार सोचकर Blog पोस्ट लिखें।

जब ऑडियंस को इंफॉर्मेशन में कुछ नया मिलेगा तभी उनको पढ़ने में भी मजा आएगा और उनको लगेगा कि उनके लिए यह बेस्ट ब्लॉग है। जानकारियों से भरपूर Blog आर्टिकल ही ऑडियंस को लुभाते हैं।

ऑडियंस को कुछ नया सीखने को मिलेगा तो आपके ब्लॉग पोस्ट पर वह बार बार आना पसंद करेंगे। इसलिए जितना हो सके अपने ब्लॉग पोस्ट आर्टिकल में नए-नए इंफॉर्मेशन डालें और ऑडियंस को बनाए रखें।

ऑडियंस को सही इन्फॉर्मेशन दे ( Give the right information to the audience )

किसी भी आर्टिकल में इंफॉर्मेशन का सही होना बहुत जरूरी होता है। अगर आपने किसी भी ब्लॉग पोस्ट में गलत इंफॉर्मेशन दी तो आपके लिए ही यह गलत होगा। क्योंकि ऑडियंस पढ़कर समझ जाएंगे कि इसमें गलत इंफॉर्मेशन है इसलिए आपके ब्लॉग का नुकसान होगा और आपके ब्लॉक की इमेज खराब होगी।

ब्लॉग पोस्ट आर्टिकल में गलत इंफॉर्मेशन देना पाठकों के विश्वास के साथ खेलने जैसा होता है। ऑडियंस के विश्वास को बनाए रखने के लिए सही इंफॉर्मेशन देना बहुत जरूरी है। इसलिए आप जिस भी टॉपिक पर Blog आर्टिकल लिख रहे हैं तो वह सारी इनफार्मेशन सही होनी चाहिए।

यह भी पढ़े –

Youtube क्या है | Youtube से पैसा कमाने के 18 बेस्ट तरीके

संरचित नोट्स बनाये ( Make structured notes )

अपने टॉपिक पर रिसर्च करने के बाद आप संरचित नोट्स बनाना शुरू करें। यह आपको विचारों को स्पष्टीकरण करने में मदद करता है और आपके आर्टिकल को संरचित रखेगा। संरचित नोट्स बनाने के लिए आप उदाहरण ,विभाजन, सूचीबद्ध बिंदुओं या आवश्यक विवरण का उपयोग करें।

टॉपिक रिसर्च करने के बाद आर्टिकल का ब्लूप्रिंट बनाना होता है। ब्लू प्रिंट का मतलब होता है कि आप अपने आर्टिकल में किन-किन चीजों के बारे में लिखना है और उसकी सारी लिस्ट बना ली है। ब्लू प्रिंट बनाने से यह फायदा मिलेगा कि लिखते समय ज्यादा सोचना नहीं पड़ता और आप बहुत कम समय में एक अच्छा आर्टिकल तैयार कर सकते हैं।

प्रारंभिक अवधारणाओं का निर्माण करें ( build initial concepts )

अपने ब्लॉग पोस्ट के आरंभिक भाग में प्रारंभिक अवधारणाओं का निर्माण करें। यह आपके ऑडियंस के ध्यान को आकर्षित करने में हेल्प करेगा। और उन्हें बाकी आर्टिकल को पढ़ने के लिए उत्साहित करेगा। आप की प्रारंभिक अवधारणाएं आपके ब्लॉग के मुख्य विचारों को सामने रखना चाहिए ।

आसान शब्दो का यूज करें ( Use simple words )

ब्लॉग पोस्ट आर्टिकल में हमेशा आसान से आसान शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। बहुत से आर्टिकल ऐसे होते हैं जिन पर शब्दों का प्रयोग जो समझ से विपरीत होते हैं उनका प्रयोग किया जाता है। आपने भी बहुत से आर्टिकल पढ़ी होंगी जिसमें शब्द ऐसे होते हैं जिनको आप समझ नहीं पाते।

Blog आर्टिकल में आप उन्हीं आसान शब्दों का प्रयोग करें जिन्हें आम बोल-चाल की भाषा में हम रोजाना उपयोग करते हैं। अगर ऑडियंस को आपके आर्टिकल में शब्दों का मतलब ही नहीं पता होगा तो वह आर्टिकल को समझ कैसे पाएंगे और इंफॉर्मेशन कैसे ले पाएंगे। इसलिए अगर ब्लॉक आर्टिकल में शब्दों का आसान प्रयोग न किया जाए तो ऑडियंस इसे पसंद नहीं करते और ना ही वह आपके ब्लॉग पर दोबारा आएंगे।

यह भी पढ़े –

Share Market क्या है | स्टॉक मार्केट से पैसा कैसे कमाए

कम्पलीट आर्टिकल लिखें ( Write complete article )

ब्लॉग आर्टिकल लिखने के समय आर्टिकल को कंप्लीट जरूर रखें। एक कंप्लीट आर्टिकल उसे कहते हैं जिसमें कि सही और पूरी जानकारी होती है। आधी अधूरी इंफॉर्मेशन किसी भी ऑडियंस को पसंद नहीं आती । एक कंपलीट आर्टिकल लिखने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे कि –

Blog पर आर्टिकल को कॉपी पेस्ट करके ना लिखें। अगर आप एक कॉपी पेस्ट वाला आर्टिकल पब्लिश करते हैं तो आपके ऑडियंस को समझ आ जाता है इसलिए अपने आर्टिकल को यूनिक रखें।

आर्टिकल पर अधिक प्रश्नों के जवाब लिखने चाहिए। प्रश्नों को ढूंढने के लिए आप Google Question Hub जैसे प्लेटफार्म का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आर्टिकल पर सरल शब्दों का प्रयोग करें ताकि आपके पाठक को अधिक से अधिक आपका आर्टिकल समझ में आए।

पहला पैराग्राफ अच्छे से लिखें ( Write the first paragraph well )

आपके आर्टिकल का पहला पैराग्राफ बहुत अच्छा होना चाहिए। क्योंकि जब यूजर अथवा ऑडियंस आपके ब्लॉग पर आते हैं तो पहला पैराग्राफ ही तय करता है कि User आपके पूरे आर्टिकल को पड़ेगा कि नहीं । इसलिए आपको पहला पैराग्राफ बहुत ही अच्छा बनाना चाहिए।

अपने पहले पैराग्राफ में आप यूजर को बता सकते हैं कि इस पूरे आर्टिकल को पढ़ने से उनको क्या लाभ मिलेगा।

पहले पैराग्राफ में हमेशा प्रश्नवाचक शब्दों का प्रयोग करें जैसे कि क्या आप जानते हैं ? प्रश्नवाचक शब्दों का यूज करने से ऑडियंस के मन में जवाब जाने की इच्छा होती है और वह पूरे आर्टिकल को पड़ता है। इसलिए जितना हो सके प्रश्नवाचक शब्दों का प्रयोग करें।

पैराग्राफ लिखते समय सस्पेंस को बनाकर रखें। क्योंकि अगर आपने पहले ही पैराग्राफ में बता दिया कि पूरे आर्टिकल में क्या लिखा है तो यूजर आपके पूरे आर्टिकल को पड़ेगा ही नहीं इसलिए सस्पेंस बना कर रखें ।

पैराग्राफ छोटे रखें ( keep paragraphs short )

आर्टिकल में पैराग्राफ का प्रयोग हमेशा छोटे ही रखें। पैराग्राफ छोटे छोटे होने से यह दिखने में भी बेहतर लगता है और पढ़ने में भी अच्छा लगता है। इसके अलावा साइकोलॉजिकल फैक्ट भी है कि अगर पैराग्राफ बड़े हो तो पाठक को आर्टिकल देखने में ही बोरिंग लगेगा और वह बिना पढ़े Blog से वापस चले जाएंगे। इसलिए जितना हो सके पैराग्राफ को छोटा ही रखें।

यह भी पढ़े –

Affiliate Marketing क्या है | एफिलिएट मार्केटिंग से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए

ऑडियंस का उत्साह बनाए रखें ( keep the audience excited )

आर्टिकल लिखते समय आप ऑडियंस को उत्साहित रखें। आर्टिकल में आप एक ही बात को बार-बार ना दोहराएं इससे पाठक अथवा ऑडियंस बोर हो जाएंगे। ऑडियंस का उत्साह बनाए रखने के लिए कुछ जरूरी टिप्स हैं –

  • आपको आर्टिकल को कहानी की तरह लिखना चाहिए। बचपन से ही हम सबका स्वभाव है कि किताबी ज्ञान हमें ज्यादा समय तक याद नहीं रहते और कोई कहानी हमें कई साल तक याद रहती है। इसलिए आर्टिकल को जितना हो सके कहानी की तरह ही लिखें और वास्तविक जीवन का उदाहरण देकर आर्टिकल को और बेहतर बनाएं।
  • आर्टिकल को ऐसा बनाना चाहिए जिससे ऑडियंस को लगे कि वह आर्टिकल पढ़ नहीं रहे बल्कि बात कर रहे हैं। जैसे यूट्यूब पर वीडियो देखने में किसी भी ब्लॉग को पढ़ने के मुकाबले ज्यादा मजा आता है क्योंकि यूट्यूब में Creators बात करते हैं।
  • आर्टिकल लिखते समय उसमें ऑडियंस को भी शामिल करें फुलस्टॉप को एक उचित स्तर का आर्टिकल हमेशा पाठकों को अपने आर्टिकल में शामिल करता है। इससे पाठक आर्टिकल को बीच में छोड़कर नहीं जा सकते और उनको पूरा आर्टिकल पढ़ने में अपने जैसा लगता है ।
  • आर्टिकल को ऐसा लिखना चाहिए ताकि ऑडियंस को लगे कि यह आर्टिकल उनके लिए ही लिखा गया है और उसमें दी हुई जानकारी उनके लिए ही है।

संपूर्णता की जांच करें ( check for completeness )

जब आप आर्टिकल लिख लेते हैं तो उसके बाद आपको संपूर्णता की जांच भी करनी चाहिए । इसके लिए आप थोड़ा सा समय निकाले और आर्टिकल को अच्छे से पढ़ने के बाद उसमें जो भी गलतियां हैं उनको ठीक कर लें । यह सुनिश्चित जरूर करें कि आपने जो आर्टिकल लिखा है उसमें जानकारी सही है और आपने सही शब्दों का प्रयोग करके पूरा आर्टिकल लिखा है।

नंबर और बुलेट का प्रयोग करें ( Use numbers and bullets )

Blog आर्टिकल लिखते समय नंबर या बुलेट का अवश्य प्रयोग करें। आर्टिकल को अट्रैक्टिव बनाने के लिए आप जरूरी चीजों को बुलेट या नंबर के रूप में पॉइंट कर सकते हैं। बुलेट का प्रयोग करने से ऑडियंस आर्टिकल पढ़ने में बोर नहीं होती हैं और वह पढ़ने का आनंद लेते हैं। नंबर और बुलेट का प्रयोग वहीं पर करना चाहिए जहां पर आपके पास एक टॉपिक के लिए अलग-अलग पॉइंट हो जैसे की विशेषताएं , उपयोग ,नुकसान ,फायदे ,लाभ ,हानि इत्यादि ।

शीर्षक और सारांश लिखें ( Write title and summary )

अपने ब्लॉग के शीर्षक को रचनात्मक, आकर्षक और इंटरेस्टिंग बनाने का प्रयास करें। शीर्षक उन्हें आकर्षित करेंगे और आपके ब्लॉग के महत्वपूर्ण पॉइंट्स को संक्षेप में दर्शाएगा और साथ ही एक अच्छा सा सारांश भी लिखे।

यह भी पढ़े –

Share Market में इनवेस्ट कैसे करें | शेयर कैसे खरीदे और बेचे

FAQ Checklist

Blog पोस्ट लिखने से पहले क्या करें ?

किसी भी ब्लॉग पोस्ट को लिखने से पहले Research करना बहुत आवश्यक होता है। अपने ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले आप Content Research जरूर कर ले।

Blog आर्टिकल लिखने के लिए क्या करें ?

Blog आर्टिकल लिखने से पहले आपको एक टॉपिक सेलेक्ट करना होता है। जो भी आपके Blog का Niche है उस Niche के अनुसार ही आप अपना टॉपिक अथवा विषय चुन ले ।

Blog पोस्ट लिखने के लिए किन शब्दों का प्रयोग करे ?

ब्लॉग पोस्ट आर्टिकल में हमेशा आसान से आसान शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। 

Blog पर आर्टिकल को यूनिक क्यों रखना चाहिए ?

Blog पर आर्टिकल को कॉपी पेस्ट करके ना लिखें। अगर आप एक कॉपी पेस्ट वाला आर्टिकल पब्लिश करते हैं तो आपके ऑडियंस को समझ आ जाता है इसलिए अपने आर्टिकल को यूनिक रखें।

ब्लॉग में क्या लिखते हैं?

हमेशा BLOGGING के लिए वही Topic चुने जिसमे आपका interest हो.
Notebook पर अपने Interest के According कुछ Topic लिखें.
अब हर Topic के अन्दर कम से कम 20 Content Idea लिखें.
अब आप देखे की क्या आप अपने चुने हुए Topic के बारें में अगले कुछ महीने तक लगातार लिख सकते हैं.

एक अच्छा ब्लॉग कैसे लिखें?

आर्टिकल पर सरल शब्दों का प्रयोग करें ताकि आपके पाठक को अधिक से अधिक आपका आर्टिकल समझ में आए। आपके आर्टिकल का पहला पैराग्राफ बहुत अच्छा होना चाहिए। क्योंकि जब यूजर अथवा ऑडियंस आपके ब्लॉग पर आते हैं तो पहला पैराग्राफ ही तय करता है कि User आपके पूरे आर्टिकल को पड़ेगा कि नहीं ।


ब्लॉग आर्टिकल में कितने शब्द लिखने चाहिए?

ब्लॉग आर्टिकल को आप 600 से लेकर 5 – 6 हजार शब्दों तक लिख सकते हैं, अपने कंटेंट के अनुसार इससे भी ज्यादा लिख सकते हैं .

ब्लॉग आर्टिकल कितना छोटा हो सकता है?

एक मूल्यवान, लेकिन फिर भी संक्षिप्त ब्लॉग के लिए सबसे अच्छा स्थान 500 और 1,000 शब्दों के बीच है। 

आर्टिकल को हिंदी में क्या बोलते हैं?

आर्टिकल का अर्थ हिंदी में Article Meaning in Hindi = आर्टिकल का मतलब “एक प्रकाशन के लिए लिखा गया गैर-कथा गद्य का एक टुकड़ा या लेख” होता है। आर्टिकल के अर्थ या मतलब की जानकारी सूची के रूप में निचे उपलब्ध करवाई गई है।

क्या लोग अभी भी ब्लॉग पढ़ते हैं?

लोग अभी भी नियमित रूप से ब्लॉग पढ़ते हैं । आपके व्यावसायिक लक्ष्यों तक पहुँचने और अधिक पैसा बनाने में मदद करने के लिए ब्लॉग एक उत्कृष्ट मार्केटिंग टूल हैं।

और पढ़े –

%d bloggers like this: